Untitled Document
Untitled Document

महर्षि वेदव्यास गुरुकुल विद्यापीठ

अंतर संरचना

यह विद्यापीठ महानगरीय प्रदूषण से दूर प्राकृतिक स्वच्छ वातावरण में स्थित आनंदधाम आश्रम में संचालित है, जो नांगलोई से 6 किलोमीटर पर नांगलोई-नजफगढ़ रोड़ के समीप बक्करवाला ग्राम के पास निर्मित है।

सात्विक पर्यावरण में स्थित यह विद्यापीठ आश्रम में निर्मित तीन भव्य मंदिरों की बांई ओर स्थित है। जिसमें कक्षाओं के लिये सात आवास हेतु 6 बड़े साफ सुथरे हवादार, सभी सुविधाओं से युक्त कमरे हैं। कम्प्यूटर प्रशिक्षण एवं संगीत के लिये अलग कक्ष हैं। विद्यार्थियों को योग, कर्राटे आदि का प्रशिक्षण विशाल हाल में दिया जाता है। विद्यापीठ का अपना पृथक पुस्ताकलय है, जिसमें प्राचीन ग्रन्थों के साथ-साथ वर्तमान समय की आवश्यकताओं के अनुकूल, ज्ञान-विज्ञान सम्बन्धी पत्रिकाएं उपलब्ध् हैं, जिनकी संख्या 3000 से अधिक है। पुस्तकालय एक भव्य हाल में स्थित है, जहां पठन-पाठन की सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं।

विद्यापीठ के समीप ही स्थित यज्ञ शाला में विद्यार्थी प्रतिदिन प्रातः यज्ञ करते हैं। गुरुकुल की अलग बड़ी रसोई है, जहां केवल विद्यार्थियों के लिये भोजन तैयार किया जाता हैं। गुरुकुल परिसर में अधिकारियों के लिये, प्रधानाचार्य एवं प्रशासनिक कार्यों के लिये पृथक कक्ष हैं। परिसर में मां सरस्वती की भव्य मूर्ति स्थापित है। यहां पीपल व बड़ के विशालकाय वृक्ष, पुष्पों से खिली अवलियां गुरुकुल की शोभा बढ़ाती हैं।

 Simple Fade Slideshow Theme - Jssor Slider, Carousel, Slideshow with Javascript Source Code